आपके 5 विचार आपको कभी सफल होने नहीं देगा I 5 SUCCESS KILLING THOUGHTS IN HINDI

Share:

विचारों के प्रभाव (EFFECT OF THOUGHTS)

success killing thought
दुनिया के प्रत्येक व्यक्ति के  अलग- अलग  विचार होते है. उन्हीं विचारों   के  अनुरूप ही वह जीवन जीना चाहता है. इन विचारों  में से कुछ तो पॉजिटिव इफ़ेक्ट (positive effect) डालती है और कुछ जीवन में नेगेटिव इफ़ेक्ट (negative effect) डालती है.

बहुत से लोग जीवन में नकारात्मक विचार  (negative thoughts) अपना लेते है और खुद को सफलता से कोसो दूर ले जाते है.. ये नकारात्मक विचार  (negative thoughts)  ही हमें जीवन में आगे बढ़ने नहीं देता.  हमें ऐसे विचारो से बचाना चाहिए.

आज मैं आपसे ऐसे ही सफलता को नष्ट  करने वाले विचारों ( success killing thoughts) शेयर   कर रहा हूँ

1 खुद को योग्य न समझना (NOT ELIGIBLE)-

not eligible
बहुत से लोग अपने आपको योग्य नहीं समझते और पूरी जिंदगी ऐसे ही हाथ पे हाथ धरे बैठे रहते है. ऐसे लोगो को आपने कहते सुना होगा कि-
(1) इस काम को करने के लिए मैं ज्यादा बड़ा नहीं हूँ या मुझमे ज्यादा समझदारी नहीं है.
(2.) मैं यह काम नहीं कर सकता क्यूंकि मुझे इस काम का जरा भी अनुभव नहीं है.
खुद को योग्य न समझने के विचार हमारे जीवन में निराशा ही लाता  है. इन विचारो को अपने मन में थोड़ी भी जगह न दे और सकारात्मक विचार  (positive thoughts) को अपना ले. यकीन रखे कि आप भी एक काबिल इंसान है.

2. खुद को सीमित दायरे में समेट लेना (CREATE LIMITATION) -

create limitation
कुछ लोग खुद के लिए सीमित  दायरा बना लेता है. वह कुछ अलग करने से घबराते है. कुछ नया करने कि हिम्मत नहीं होती . ऐसे लोगो से आपने कहते सुना होगा-
(1) मैं अपनी स्थिति से खुश हूँ चाहे जैसे भी हूँ
(2). मैं जो कर रहा हूँ वो बहुत है क्यूंकि इससे मेरा और मेरे परिवार का खर्च चल जाता है.
इस तरह कि विचार " कुएं   के  मेढ़क" जैसे विचार है, जो आपको जीवन में कभी आगे बढ़ने नहीं देगा. 

3. पारिवारिक जिम्मेदारी का  बहाना ( FAMILY RESPONSIBILITY)-

family responsibility
पारिवारिक जिम्मेदारी को  निभाना एक बहुत अच्छी बात है और हर जिम्मेदार व्यक्ति को अपनी पारिवारिक जिम्मेदारी को बखूबी से निभाना चाहिए. लेकिन पारिवारिक जिम्मेदारी को अपनी कमजोरी बना लेना और इसके कारण  जीवन में पीछे रहना बहुत बड़ी गलती है.
ऐसे लोग अक्सर कहते है- मुझे पर अपने परिवार को पालने कि पूरी जवाबदारी है और ऐसे स्थिति में मैं अपना नौकरी बदलकर रिस्क नहीं ले सकता.
इस तरह के विचार रखने वाले लोग खुद जीवन में आगे नहीं बाद पाते और समय के  साथ परिवार का भी ठीक से ध्यान नहीं रख पाते.

यह भी पढ़े-


4 परिस्थितिओ से भागना (RUN AWAY FROM SITUATION)-

run from problems
कुछ लोगो  में  परिस्थितिओ से भागने कि आदत होती है. ऐसे लोग जीवन में थोड़ी भी मुश्किलें नहीं झेल पाते. जीवन में  विषम परिस्थिति आते ही हाथ खड़े कर देते है. ऐसे लोगो का जीवन के प्रति नकारात्मक रवैया होता है. हर स्थिति -परिस्थिति से भागना इनकी आदत बन जाती है.
ऐसे लोग कहते है- भाई, 10 पोस्ट के लिए 50,000 लोगो ने आवेदन किये है अब ऐसे स्थिति में मैं फॉर्म भरकर क्या करूँगा.ऐसे लोग खुद कि कमजोरी को बहाने बनाकर छुपाने कि कोशिश करते है. एक बात हमेशा   
याद रखिये जो व्यक्ति उस पोस्ट के लिए सेलेक्ट होगा वो भी आपके जैसे ही होता है. अगर वो सफल हो सकता है तो आप भी हो सकते है.

5 खुद को बेहतर बनाने के बारे में न सोचना (DONT THINK ABOUT YOURSELF)-

think to improve yourself
आपने भी कुछ लोगो को देखा होगा जो पूरी दुनिया के बारे में सोचते रहते है लेकिन खुद के बारे में कभी नहीं सोचते. ऐसे लोग कहते है - खुद के बारे में सोचने का  समय ही नहीं मिलता है. आप खुद अंदाजा लगा सकते है कि वे लोग दुनिये भर के फालतू बातो में कितना समय बर्बाद कर देते है और खुद के बारे में सोचने के लिए जरा भी समय नहीं निकालते. 
मानता हूँ कि दुनिया के बारे में सोचना भी बढ़िया आदत है लेकिन जब हम खुद के बारे में सोचेंगे तो खुद को बेहतर बना पाएंगे और जब खुद बेहतर होंगे तो दुनिया को भी बेहतर बना  सकेंगे.
जैसे- एक खिला हुआ फूल ही दुसरो को प्रसन्नता दे सकती है वैसे ही हम जब खुद बेहतर होंगे तभी दुसरो को बेहतर बना सकते है.

WATCH VIDEO


अगर यह पोस्ट आपको पसंद आया हो तो इसे Like करना और अपने दोस्तों के साथ Share करना न भूले और ऐसे ही प्रेणादायक लेख ईमेल पर मुप्त में पाए. हमें Facebook Page पर भी Follow कर सकते है.

जीवन बदलने वाली लेख ईमेल पर मुफ्त में पाये

No comments