जीवन में जब दुःख या परेशानी आये तो करें ये 5 काम । DO 5 THINGS WHEN YOU SUFFER IN LIFE

Share:
दु:ख और परेशानी  सभी की जिन्दगी में आते-जाते  रहते हैं.लोगो को दिन प्रतिदिन के कामो में सुख-दुःख लगा रहता है.  अगर ये कहा जाए कि दु:ख तो जीवन का एक हिस्सा है तो अतिश्योक्ति नहीं होगी.
Do 5 things when you suffer in life
जीवन में जब दुःख या परेशानी आये तो करें ये 5 काम

जीवन में जब दुःख या परेशानी आये तो करें ये 5 काम

जीवन में दुःख (Suffer) या परेशानी (Problems) के पल बहुत ही भरी होता है और ऐसे समय में जीवन में बड़ी सूझ बुझ से काम लेना चाहिए. वरना परिस्थिति  और भी भयावह हो जाती है. जीवन में जब दुःख या परेशानी आये तो  कुछ खास बातों का ध्यान ध्यान रखेंगे तो  जीवन की इन  विपरीत  परिस्थितियों से बड़े आसानी से निपटा जा सकता है.  जब भी जीवन में कोई दु:ख या परेशानी आए तो आपको यह 5 काम  करना चाहिए.

1.संयम  रखें -

जीवन में दुःख या परेशानी आये तो हमें संयम रखना चाहिए. संयम रखने से दुःख या परेशानी आप पर हावी नहीं होगा और उसे जल्दी से  जल्दी अपने लाइफ से दूर रख पायेंगे. दुःख या परेशानी का आपके जीवन में अधिक समय तक  टिकना खतरनाक है क्योंकि ये दोनों स्थितियां जीवन का नकारात्मक पक्ष है. यहीं से तनाव का आरम्भ होता है.

2. तनाव न ले-

जीवन में जब भी किसी प्रकार का कोई दुःख या परेशानी होता है तो हम तनाव ग्रस्त हो जाते है. तनावग्रस्त होने से हमारे सोचने-समझने की क्षमता कम हो जाती है. फलस्वरूप हम स्थिति को और बदत्तर बना डालते है. तनाव लेने से आपके  मन में उदासी छा सकती है जो आगे चलकर डिप्रेशन में बदल सकता है जिसके भयंकर दुष्परिणाम आपको या आपके परिवार वालो को चुकाना पड़ सकता है.
यह भी पढ़े- जीवन से तनाव कम करने के 6 तरीके.


3.किसी अच्छे व्यक्ति से उचित सलाह ले-

कभी -कभी कोई दुःख या परेशानी उतनी बड़ी नहीं होती है जितना हम उसे बना देते है या समझते है. अक्सर लोग खुद पर आये परेशानी को किसी अच्छे व्यक्ति से शेयर (Share) नहीं करते है, सलाह नहीं लेते है.कोई भी दुःख या परेशानी को मन में रखने से और बार-बार उसके बारे में सोचने से वह और बढ़ते जाता है. इसलिए कोशिश करें- जब भी जीवन में किसी प्रकार से दुःख  या परेशानी आये तो किसी अच्छे व्यक्ति से चर्चा करें  जो आपको उचित सलाह दे सके.

4.सकारात्मक रवैया अपनाये -

जीवन में दुःख आते ही बहुत से लोग उदास हो जाते है. कई लोग सोचते है कि उनके ही जीवन में बार-बार  दुःख या परेशानी क्यों आते है. दुःख के पल में उदास रहने से कोई भी निष्कर्ष नहीं निकलता है. इसलिए जब भी दुःख आये तो ऐसे नकारत्मक विचारो के बदले सकारात्मक विचारो को अपनाये. आपका सकारात्मक रवैया आपको दुःख या परेशानी से लड़ने की हिम्मत देगा.   जीवन के दुःख में ज्यादा दुखी होने के बजाय उसका निदान ढूंढने कि कोशिश करें.
यह भी पढ़े 
जीवन से तनाव कम करने के 6 तरीके
चिंता सरल काम को भी कठिन बना देती है. 
नकारात्मक सोच से बचने के 5 अचूक उपाय 


5. बेवजह चिंता न करें-

दुःख या परेशानी आने में अक्सर लोग बेवजह चिंता करने लग जाते है. थोड़ी बहुत चिंता सबको होती है लेकिन बेवजह चिंता करने से बचे. अक्सर लोगो कि आदत होती है कि वो थोड़े से परेशानी में ज्यादा चिंता करने लग जाते है. चिंता करना किसी समस्या का निदान नहीं है. चिंता करने से समस्या और भी जटिल हो जाती है. 
जीवन में बेवजह चिंता से बचने के लिए   हमेशा 2 बातें याद रखें-
1.  वो  परेशानी जिसे  आप खुद सुलझा सकते है, या 
2   वो  परेशानी जिसे आप नहीं सुलझा सकते है.
जिसे आप सुलझा सकते है उसे सुलझाए और जिसे नहीं सुलझा सकते है उसके लिए बेवजह चिंता करके भी आप कुछ नहीं कर सकते है. इसलिए बेवजह चिंता करने से बचे और सूझ-बुझ के साथ किसी भी दुःख और परेशानी का सामना करेंगे तो कोई भी दुःख ज्यादा समय तक नहीं रहेगा.

दोस्तों आपको यह आर्टिकल "जीवन में जब दुःख या परेशानी आये तो करें ये 5 काम । DO 5 THINGS WHEN YOU SUFFER IN LIFE ." आपको कैसा लगा और आपका इसके बारे में क्या मत है कमेंट करके जरूर बताइयेगा.
अगर यह पोस्ट आपको पसंद आया हो तो इसे Like करना और अपने दोस्तों के साथ Share करना न भूले और ऐसे ही प्रेणादायक लेख ईमेल पर मुप्त में पाए. हमें Facebook Page पर भी Follow कर सकते है.

जीवन बदलने वाली लेख ईमेल पर मुफ्त में पाये

No comments