7 चीजे जो आपको नहीं करना चाहिए और क्यों ? 7 THING YOU SHOULD NOT DO AND WHY ?

Share:
हम अपने दैनिक जीवन में न जाने कितने सारे काम करते है जिनका हमारे Personality  और जीवन में बहुत बड़ा प्रभाव पड़ता है. कुछ गलत चीजें ऐसी होती है जिनका हमारे जीवन में गलत प्रभाव पड़ता है और हमारी  Personality   दुसरो लोगो के लिए एक नकारात्मक पर्सनालिटी बन जाता है.
 गलत चीजों से बचने का एक सीधा उपाय है उनसे दुरी बनाकर रखें. 

7 chije jo apko nahi karna chahiye aur kyu
7  चीजे जो आपको नहीं करना चाहिए और क्यों ?
7  चीजे जो आपको नहीं करना चाहिए और क्यों (7 Things you should not do and why)

ऐसे तो हमें  हर पल सावधानी बरतनी चाहिए कि हम क्या कर रहे और क्या कह रहे है. इसके बावजूद भी  कुछ बातें जिनसे दुरी बनाकर रखना ही हमारे लिए हितकर होता है. ऐसे कई सारी बातें जो हम जाने -अनजाने में कर बैठते है उसके बाद जीवन में कई अनचाही बातें होने लगती है. हमारे लाख कोशिश के बावजूद भी जीवन में खुशिया नहीं आ पाती .  आज मैं आपसे ऐसे ही 7 बातें शेयर कर रहा हूँ जिन्हें अगर जीवन में Follow करेंगे तो जरूर बेहतर परिणाम मिलेंगे और जिंदगी  पूरी तरह बदल जाएगी.  

1  .खुद को दूसरे से तुलना (Compare ) करना-

आज प्रायः हर कोई खुद को किसी न किसी वजह दूसरों से तुलना करते है इसे आप मानव की प्रवृत्ति भी कह सकते है. आप दुसरो के सिर्फ बाहरी रूपों को देखते है. आप सामने वाले के मनोभाव को थोड़ा भी नहीं जानते है. सामने वाले के बाहरी चीजों को देखकर खुद की जिंदगी को उनसे तुलना करने की बहुत बड़ी भूल करते है. दुनिया में हर किसी के पास कोई न कोई विशेष गुण होता है और ऐसा गुण आपके अंदर भी है. जब आप खुद को दूसरे से तुलना करते है तो खुद को कमजोर मान न लेते है और जीवन में निराशा आने लगती है. 
ऐसा भी हो सकता है जिसे आप स्वयं कि तुलना कर रहे हो वह व्यक्ति आपके तुलना के योग्य भी न हो और वह भीतर से दुःखी हो.
यह भी पढ़े-  आपके 5  विचार आपको कभी सफल होने नहीं देगा.


2 . दूसरों की बुराई करना -

बुराई करने के बारे में एक कहावत है-"जो आपके सामने किसी और की बुराई करता है वो जरूर किसी और के सामने आपकी भी बुराई करेगा.
बुराई एक नकारात्मक चीज है जिसके करना हमें इसमें आनंद आता है और हम इसमें डूबता जाते है, जिससे हमारी छवि भी नकारात्मक होती जाती है. बुराई करने की आदत के कारण हम किसी की तारीफ नहीं कर पाते और न ही हमें किसी चीज में अच्छाई नजर आती है. इसलिए दूसरों की बुराई करने वालो से दुरी बना कर रखे. जब भी ऐसा मौका आये तो खुद को किसी बहाने अलग कर लीजिये.

3. बीते बातों पर अफ़सोस करना-

हम सबके साथ past में  जाने-अनजाने कुछ गलती या  कोई गलत चीजे  हो जाती  है जिसके कारण हमें निरंतर दुःखी रहते है. किसी बात के लिए एक से दो बार दुःखी रहना जायज है लेकिन निरतंर दुःखी रहना आपके लिए उचित नहीं है. 
समझदारी यही है आप उसे बात से सीख़ लेकर जीवन में आगे बड़े. जो बात-बात में दूसरों के सामने रोना रोते रहते है ऐसे लोगो से दूसरे लोग मिलना  पसंद नहीं करते है. जीवन में हर किसी को कुछ न कुछ समस्या है और ऐसे में आप भी उनके हर पल को दुःखी बनाने का प्रयास करेंगे तो वो आपसे सम्बन्ध रखना भी छोड़ देंगे . बीते बातों पर अफ़सोस करने से हम वर्तमान को पूरी तरह  जी नहीं पाते और ना ही भविष्य के लिए कोई प्लानिंग कर पाते है.
यह भी पढ़े- जीवन में जब कोई दुःख या परेशानी आये तो क्या करें 

4. दूसरों पर निर्भर रहना

ऐसे तो हमें कुछ न कुछ बातों के लिए दूसरों की मदद लेनी पड़ती है. लेकिन कुछ लोग छोटी-छोटी बातों के लिए दूसरों पर निर्भर रहते है शायद यही कारण है वो अपना जरुरी काम भी समय पर नहीं कर पाते है. हमें हर कार्य के लिए दूसरों पर निर्भर नहीं रहना चाहिए. दूसरों पर जरुरत से ज्यादा  निर्भर रहने से आत्म-विश्वास ख़त्म  होने लगता है.
जो काम आप स्वयं  कर सकते है उसे खुद से करने की कोशिश करें. इससे आपका आत्म-विश्वास बढ़ेगा और आप जीवन में बड़ा से बड़ा बिना किसी मदद के स्वयं के बदौलत पूरा कर सकेंगे. 

5 . रिश्तो को महत्व  न देना  

आज के दौर  में लोग रिश्तो के मायने भूलते जा रहे है. हम किसी रिश्तो को किसी न किसी स्वार्थ के कारण ही आगे लेकर चल रहे है.अगर  कोई स्वार्थ न हो तो हम उस रिश्ते को तुरंत ख़त्म कर देंगे. इसी स्वार्थ के कारण आज किसी भी रिश्तो में मधुरता नहीं रह गया है. 
जीवन में आगे बढ़ने के होड़ में आज रिश्ते पीछे छूटने लगे है. आप 2  मिनट के लिए सोचिये की अगर आप जीवन में बहुत सफल हो भी गए तो उसकी ख़ुशी किसके साथ मनाएंगे अगर कोई रिश्ता ही नहीं रह जायेगा . जीवन में आगे बढ़ने के सपनो के साथ - साथ रिश्तो को भी महत्व देना बहुत जरुरी है. 


6. दूसरों से उम्मीदे रखना-

दूसरों से उम्मीद रखने के मामले में हम बहुत आगे निकलते जा रहे है. हम खुद से कुछ करने के बजाय दूसरों से उम्मीद रखते है. जितना हम दूसरों से उम्मीद करते है उनका थोड़ा भी हम कर दे तो हमारी जिंदगी ही बदल जाये. 
आज हर कोई न जाने कितनी सारी उम्मीदे रखता है. इसी उम्मीदों के कारण हमारे जीवन में कई प्रकार की परेशानिया भी आती है. आप जितना ज्यादा उम्मीद रखेंगे तो उनके पुरे न होने पर  उतना ही  निराशा होती जाएगी इसलिए दूसरों के बजाय खुद से कुछ करने की कोशिश करें. 

7. जो नहीं चाहिए उस पर ध्यान लगाना

प्रायः  ऐसे देखा गया है की लोग उन चीजों पर ज्यादा ध्यान लगते है जो उन्हें नहीं चाहिए. आकर्षण के सिद्धांत के अनुसार आप जिन चीजों पर अपना ध्यान लगाते है उन चीजों पर आश्चर्यजनक रूप से वृद्धि होती है. हम  मनचाही चीजों के बदले जो नहीं चाहिए उन चीजों पर ध्यान  लगाने में अपना अमूल्य समय नष्ट कर देते है. 
जैसे कि -आप अमीर बनना चाहते तो  है लेकिन आप अपना ध्यान Income  बढ़ाने में लगाने के बजाय बढ़ती  महगाई और खर्चो पर ही लगा रहे है और रात-दिन इसी  चिंता पे डूबे है. . इससे आपके अमीर बनने कि चाह कभी पूरी नहीं होगी.
यह भी पढ़े-

                                                 -----------******-----
आपको यह आर्टिकल "7  चीजे जो आपको नहीं करना चाहिए और क्यों । 7 THING YOU SHOULD NOT DO AND WHY" आपको कैसा लगा और आपका इसके बारे में क्या मत है कमेंट करके जरूर बताइयेगा 
अगर यह पोस्ट आपको पसंद आया हो तो इसे Like करना और अपने दोस्तों के साथ Share करना न भूले और ऐसे ही प्रेणादायक लेख ईमेल पर मुप्त में पाए. हमें Facebook Page पर भी Follow कर सकते है.

No comments