क्यों बचे Facebook से ? 8 कारण. Why should Avoid Facebook? 8 Reason in Hindi

Share:
आज सोशल मीडिया हम सभी की जिंदगी का अहम् हिस्सा बन गया है. बच्चा हो या जवान सभी लोग इनसे जुड़ गए है और जुड़ रहे है.

why should avoid facebook in hindi
सोशल मीडिया में Facebook  दुनिया की सबसे बड़ी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म बन चूका है. ऐसे में अगर कोई ये कहे कि उनका फेसबुक में कोई अकाउंट नहीं है तो लोग उनका मजाक उड़ाते है कि FB पे अकाउंट नहीं है कितना outdated  है.शायद इसी कारण से फेसबुक में बिलियन यूजर है.

फेसबुक एडिक्शन Facebook Addiction

सोशल मीडिया से जुड़ना कोई बुरी बात नहीं. अगर कुछ विचार करने लायक कोई चीज है तो इसके एडिक्शन से. कुछ सवाल है जिनके जवाब ढूंढ कर पता लगा सकते है कि हम कही एडिक्ट हो नहीं हो गए है.

  • आप घंटो Facebook  पे समय बिताते है. 
  • दिन में कई बार बिना मतलब कि चीजे पोस्ट करना.
  • दिन भर सोचते रहना कि आपके पोस्ट को कितने लोगो ने लाइक और कमेंट किये है. 
  • हर 15 -20    मिनट बाद अपने फेसबुक अकाउंट में लॉगिन करके कुछ नया देखने कि कोशिश करना.
  • टॉयलेट में भी मोबाइल या लैपटॉप पर फेसबुक चलाना
  • सोने से पहले गुड नाईट पोस्ट करना और सुबह उठाते ही सबसे पहले उस पोस्ट का रिएक्शन चेक करना
  • अगर आपका नेट बंद हो जाये तो Facebook update  चेक करने पब्लिक कैफ़े चले जाना. 
अगर आप फेसबुक के नार्मल यूजर है मतलब आपको उससे कोई Earning  नहीं हो रहा है तो आपके लिए 1  घंटे से ज्यादा समय बिताना फेसबुक एडिक्शन हो सकता है. लेकिन जो लोग फेसबुक से Earning कर रहे है वो उनके लिए एक जॉब जैसा है. अगर आप फेसबुक के नार्मल यूजर है और  आप बहुत ज्यादा समय फेसबुक पे बिता रहे है तो खुद को एडिक्ट होने से बचा लीजिये .


क्यों बचे फेसबुक एडिक्शन से ? 

यदि आप 1  घंटे से ज्यादा समय फेसबुक पे बिता रहे तो अपना अमूल्य समय नष्ट कर रहे है इसके कई कारण हो सकते है जैसे आपके जीवन में कोई लक्ष्य का न होना और आपको खुद कि अपेक्षा दूसरों कि जिंदगी में ज्यादा रूचि होना. आप सोचेंगे कि फेसबुक के ज्यादा Use से या एडिक्शन से क्या नुकसान होगा. इसके कुछ मुख्य नुकसान आपसे शेयर कर रहा हूँ.

1. दिमाग का उलझन

फेसबुक का ज्यादा उपयोग आपके दिमाग को उलझा कर रखता है. आप दिन भर सिर्फ और सिर्फ फेसबुक के बारे में सोचते रहते है. फेसबुक में खुद के पोस्ट पे आये लाइक और कमेंट को चेक करते रहते है. कई बार तो दूसरे के पोस्ट पे गलत कमेंट से लड़ाई तक हो जाती है और दिमागी रूप से पूरी तरह उलझ जाते है.

2. अमूल्य समय कि बर्बादी. 

आप मानो  या ना मानो  बहुत ज्यादा समय तक फेसबुक चलाकर आप खुद अपने कीमती समय को बर्बाद कर रहे है. लोग फेसबुक पर दिन भर ऐसे लगे रहते है मानो उससे वह लाखो रुपये कमा  रहा है. बल्कि फेसबुक आपके समय के बदौलत लाखो रुपये कमा  रहा है. फेसबुक में दिनभर लगे रहने से आपके बहुत जरुरी काम छूट जाते है और पूरा दिन Unproductive  चीजों पर ही Waste  हो जाता है.

3. अपनी खुशी का कण्ट्रोल दूसरों को देना-

फेसबुक का ज्यादा use  आपके खुशी को कण्ट्रोल दूसरों को दे देते है. वास्तव में अब आपकी खुशी इस बात से होती है कि आपके पोस्ट पर कितने लाइक और कमेंट आये है.
मान लो- आपने एक  कार ली और फोटो फेसबुक पर अपलोड किये. आप अब दिनभर चेक करते रहोगे कि कौन क्या कमेंट कर रहा है . अगर बढ़िया बढ़िया कमेंट किये तो आप खुश होंगे लेकिन किसी ने आपके कार के मॉडल और कलर पे गलत कमेंट कर दिए तो आप खुद को जस्टीफ़ाइड करने में लगा दो और आपकी खुशी गायब हो जाएगी. इस तरह हम जाने अनजाने अपने खुशी का कण्ट्रोल दूसरों के देते है.

4. लाइफ में Comparison  का  बढ़ना   

फेसबुक में लोग अपने लाइफ सिर्फ अच्छे पल ही शेयर करते है like - My New House, My apple watch etc.  आज कि दुनिया दिखावटी भी होती जा रही है. आप फेसबुक में अपने दोस्तों के सिर्फ बाहरी लाइफ को देखते है जो वो आपको दिखा रहे है. सच कहु तो आप भी कुछ ऐसा कर रहे होते है.
लेकिन आप अपना असलियत भी जानते है लेकिन अपने दोस्तों के बारे में सच नहीं जानते. सिर्फ वही जानते है तो जो वह दिखा रहा है. आपको उनका नया घर तो दिखता है लेकिन उसके साथ आने वाला EMI  नहीं.
इसतरह हम अपनी लाइफ को Compare  करने लगते है और खुद को low feel  करने लगते है. Facebook  कि ये आदते धीरे-धीरे आपको डिप्रेशन कि दुनिया में लेकर चला जाता है.

5 . दोस्त और रिश्तेदार से  दूर होते जाते है

फेसबुक कि दुनिया में लोग ढींगे बहुत मारते है जैसे मेरे 5000  फ्रेंड्स है वगैरह-वगैरह. सच कहु तो ऐसे लोग आधे से ज्यादा लोगों को जानते भी नहीं है. अगर वो सामने आ जाये तो हम शायद पहचान भी न पाये. FB  कि दुनिया में हम ऐसे लोगों से जुड़े रहते है जिनको शायद हम जानते भी नहीं है फेसबुक में हमें नए लोगों को जानने कि ज्यादा रूचि होती ही.  इसकारण  हमारे असल के दोस्त और रिश्तेदार को समय नहीं दे पाते और हम धीरे-धीरे उनसे दूर होते जाते है.

6 . Social  Active  होने का भ्रम होना

Fb  पर घंटो समय बिताने वाले को लगता है कि वह Social  active  है लेकिन सच में ऐसा नहीं होता है. हम सिर्फ Imaginary  world  में  एक्टिव रहते है और सचमुच कि दुनिया हमसे पीछे छूटती जाती है या यु कहे कि हमारे पास असली दुनिया में एक्टिव रहने का समय ही नहीं बच पता है. 
ऐसे लोग Fb पर अपने ऑनलाइन दोस्तों को Hi , Hello  तो बोलते है लेकिन जब ऑफिस या कॉलेज में मिलते है तो जरुरी नहीं समझते है और इसतरह भी खुद को असली दुनिया में एक्टिव नहीं रख पाता. 



7 . हेल्थ में बुरा असर

दिन भर सोशल मीडिया पर लगे रहने वाले लोगो प्रायः एक ही जगह बैठे रहते है जिससे उनको कई तरह के शारीरिक परेशानिया होने लगती है जो उनके हेल्थ पर बहुत बुरा असर भी डालता है. लगातार एक ही जगह बैठे रहने से  और दिन भर मोबाइल स्क्रीन को देखते रहने से आँखों कि रोशनी कम पड़ जाता है और गलत तरीके से लम्बे समय बैठने से स्पॉन्डिलाइटिस भी हो सकता है.

8 . डिप्रेशन का शिकार 

डिप्रेशन के शिकार का आकड़ा दिन-प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है. न्यूयार्क के एक सर्वे के अनुसार इसके प्रमुख कारण सोशल मीडिया एडिक्शन है. डिप्रेशन के शिकार होने वालो में 20 - 30  साल के युवा ज्यादा है क्योंकि  जिस समय वो अपने Career   को उचाईयो पर ले जा सकते है ऐसे समय को फेसबुक जैसे unproductive चीजों में waste  कर देते है, नतीजन जीवन में पीछे रह जाते है और डिप्रेशन से ग्रसित हो जाते है.  
यह भी पढ़े- 
                                                  --------******--------
अगर यह पोस्ट आपको पसंद आया हो तो इसे Like करना और अपने दोस्तों के साथ Share करना न भूले और ऐसे ही प्रेणादायक लेख ईमेल पर मुप्त में पाए. हमें Facebook Page पर भी Follow कर सकते है.

No comments